Social

Ration Card Form अब नए राशन कार्ड में महिलाएं होंगी मुखिया

नए Ration Card Form भरे जाने हैं क्यूंकि जयपुर जिले में मौजूदा Ration Card Form की मियाद ख़त्म होने वाली है, खास बात ये है की अब Rashan Card Form में पुरुष की जगह 18 वर्ष से बड़ी कोई भी महिला परिवार की मुखिया रहेगी.

नए Ration Card Form में होगा प्रावधान

अब घर के मुखिया पुरुष की जगह घर की सबसे उम्र दराज़ महिला ही परिवार की मुखीया होगी. राशन कार्ड में मुखिया के रूप में महिलाओं का नाम दर्ज करने का अभियान जल्द ही शुरू होने वाला है, खाद्य एवं रसद आपूर्ति विभाग की तरफ से जयपुर जिले में नए राशन कार्ड बनाये जाने हैं एवं इसके लिए नए Ration card Form भरे जाने हैं |

पुराने राशन कार्ड की मियाद हो रही है ख़त्म

मौजूदा प्रचलन वाले ration card मियाद ख़त्म हो रही है, अब नए राशन कार्ड महिलाओं के नाम पर बनेंगे, परिवार में यदि कोई महिला 18 वर्ष की नहीं है तो ही पुरुष गृहस्थ मुखिया बनाया जायेगा. लेकिन जैसे ही कोई भी महिला 18 वर्ष की होती है तो स्वत ही घर की महिला को परिवार की मुखिया बना दिया जायेगा.

खाद्य सुरक्षा की धारा 13 में महिला को दिया अधिकार

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 के अलोक पात्र एसा पात्र परिवारों को राशन कार्ड उपलब्ध कराया जायेगा. राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम की धारा 13 (१) एवं 13 (२) में कहा गया है की प्रत्येक परिवार में 18 वर्ष से कम आयु की महिला सदस्य की मौजूदगी में गृहस्थी का मुखिया पुरुष होगा जबकि महिला के 18 वर्ष के होते है घर की मुखिया महिला बन जाएगी, यानी की अब घर की मुखिया महिलाए ही होंगी.

कर्मचारी घर – घर जाकर भरेंगे Ration Card Form

इस अधिनियम के तहत बनने वाला Rashan Card घर की महिला मुखिया के नाम से बनाया जाएगा. उम्र दराज महिला न होने की दशा में ही पुरुष को मुखिया बनाया जायेगा. इस अभियान की शुरुआत जल्द ही होने वाली है. जहाँ कर्मचारी घर घर जाकर सर्वे करेंगे और और नए Ration Card Form बी भरेंगे

Also Read:

Bar Girl In india सर्च करने पर सोनिया गाँधी का नाम क्यूं आ रहा है ?


दिया तले अँधेरा और बदहाल जिन्दगी

इस प्रक्रिया में महिला मुखिया को अपना कोई पहचान पत्रं देना होगा. बैंक स्टेटमेंट की फोटोकॉपी भी दस्तावेजो के साथ लगानी होगी, महिला मुखिया का नाम भरे जाने के बाद परिवार के अन्य सदस्यों का विवरण दर्ज होगा,

महिलाओ को सशक्त बनाने के उद्देश्य से यह खाद्य सुरक्षा अधिनियम में उनके नाम से राशन कार्ड बनाये जाने की योजना तैयार की गयी है. इससे पहले भामाशाह योजना में भी महिलाओ को मुखिया बनाया गया था.

Post Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.